Twitter Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

हिंदी दिवस जानें इसके पीछे छुपे इतिहास की रोचक बातें, आखिर 14 सितम्बर ही क्यों ?

हिंदी दिवस: भारत, जगत का एक ऐसा देश है जहाँ पर अनेक भाषाएँ बोली जाती हैं, लेकिन इस देश में हिंदी की अपनी अद्वितीय स्थिति है। हिंदी दुनियाभर के भारतीयों को एक साथ जोड़ने का काम करती है और यह एक महत्त्वपूर्ण भाषा है जो हमारे समृद्ध भाषाई धरोहर का हिस्सा है।

हिंदी भाषा ने न केवल देशी बल्कि विदेशों में भी अपनी महत्ता साबित की है। यह एक ऐसी भाषा है जो अपने साधारण और सुंदर भाषाई गीतों, कविताओं, कहानियों, और धार्मिक ग्रंथों के लिए प्रसिद्ध है।

हिंदी दिवस

गांधी जी का संघ को हिंदी की उपयोगिता का संदेश

महात्मा गांधी ने 1918 में हिंदी साहित्य सम्मेलन में हिंदी को जनमानस की भाषा कहते हुए राजभाषा बनाने को कहा था। उन्होंने हिंदी को एक सामाजिक और सांस्कृतिक संचालन के रूप में स्वीकार किया और यह देशभक्ति और साहित्य की भावना को साझा करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई। यह भी पढ़े: iPhone 14, iPhone 13, के भाव हो गए कम, जल्दी से लपेटलो

हिंदी आज भी भारत की आधिकारिक भाषा है और इसका महत्व आज भी बरकरार है। यह न केवल दिल्ली में बल्कि पूरे देश में अपने सार्थक और महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

भारत में हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है?

भारतीय संविधान में अनुच्छेद 343 के अनुसार, हिंदी को आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाया गया था। हिंदी दिवस 14 सितंबर को मनाने का निर्णय लिया गया, इसी दिन हिंदी के साहित्यकार राजेन्द्र सिंह का 50वां जन्मदिन था, तो इसी श्रेष्ठ दिन को ही हिंदी दिवस के रूप में मनाने का निर्णय हुआ था।

उद्देश्य

अंग्रेजी और चीनी भाषा के बाद हिंदी पूरी दुनिया में तीसरी सबसे बड़ी भाषा है, लेकिन उसे अच्छी तरह से समझने, पढ़ने और लिखने वालों की संख्या बहुत कम है, जो और भी कम होती जा रही है। इसके साथ ही हिंदी भाषा पर अंग्रेजी के शब्दों का भी बहुत अधिक प्रभाव हुआ है। इस कारण ऐसे लोग, जो हिंदी का ज्ञान रखते हैं या हिन्दी भाषा जानते हैं, उन्हें हिंदी के प्रति अपने कर्त्तव्य का बोध करवाने के लिए इस दिन को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है, ताकि वे हिन्दी भाषा को भविष्य में विलुप्त होने से बचा सकें।

हिंदी भाषा का महत्व

हिंदी भाषा का महत्व

हिंदी भाषा ने न केवल भारत में, बल्कि पूरी दुनिया में अपनी महत्ता साबित की है। यह एक ऐसी भाषा है जो हमारे सामाजिक, सांस्कृतिक और राष्ट्रीय एकता के प्रतीक के रूप में काम करती है। हिंदी के माध्यम से हम अपने भावनाओं को साझा करते हैं, कहानियों को सुनाते हैं, और धार्मिक ग्रंथों का सारांश निकालते हैं।

हिंदी दिवस का महत्व

हिंदी दिवस का मुख्य उद्देश्य है हिंदी के महत्व को सामाजिक और राष्ट्रीय स्तर पर बढ़ावा देना। यह दिन हमें याद दिलाता है कि हिंदी हमारे देश की अमूल्य धरोहर है और हमें इसकी सुरक्षा और संरक्षण का काम करना है।

सरकार की पहल

राजेंद्र सिंह, हजारी प्रसाद द्विवेदी, काका कालेलकर, मैथिलीशरण गुप्त और सेठ गोविंद दास गोविंद जैसे लोगों ने हिंदी को भारत की आधिकारिक भाषा बनाए जाने के पक्ष में कड़ी पैरवी की थी। इतिहासकारों का मानना है कि हिंदी विद्वानों द्वारा अपनी महान साहित्यिक कृतियों में इस्तेमाल की जाने वाली प्रमुख भाषा रही है। रामचरितमानस एक साहित्यिक कृति है, जो हिंदी में भगवान राम के जीवन का वर्णन है और गोस्वामी तुलसीदास की सबसे महत्वपूर्ण कृतियों में से एक है, जिसे 16वीं शताब्दी में लिखा गया था। यह भी पढ़े: Vivo V29e Vs OnePlus Nord CE 3: कौन मरेगा बाज़ी दोनों एक से एक गज़ब के स्मार्टफोन

सरकार का प्रयास

हिंदी दिवस के दौरान कई कार्यक्रम होते हैं। इस दिन छात्र-छात्राओं को हिंदी के प्रति सम्मान और दैनिक व्यवहार में हिंदी का इस्तेमाल करने आदि की शिक्षा दी जाती है, जिसमें हिंदी निबंध लेखन, वाद-विवाद, हिंदी टंकण प्रतियोगिता आदि होती हैं।

सरकार द्वारा हिंदी को प्रोत्साहित करने के लिए बहुत से कदम उठाए गए हैं। प्रधानमंत्री से लेकर मंत्रीगण राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर अपने भाषण हिंदी में ही करते हैं। सरकार में बैठे लोगों द्वारा हिंदी में कामकाज और बातचीत करने का प्रभाव जनता पर भी पड़ा है। अब जनता भी सोशल मीडिया के साथ-साथ अपने काम हिंदी में करने लगी है, जिससे हिंदी का भविष्य उज्ज्वल दिखाई देने लगा है।

हिंदी भाषा

हिंदी भाषा पर प्रदान किए जाते हैं राजभाषा पुरस्कार

हिंदी दिवस पर हिंदी के प्रति लोगों को प्रेरित करने हेतु भाषा सम्मान की शुरुआत की गई है। दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में मुख्य समारोह आयोजित किया जाता है। इस दौरान हिंदी भाषा में अतुलनीय योगदान के लिए लोगों को राजभाषा पुरस्कार से नवाजा जाता है। यह सम्मान प्रतिवर्ष देश के ऐसे व्यक्तित्वों को दिया जाता है, जिन्होंने जन-जन में हिंदी भाषा के इस्तेमाल एवं उत्थान के लिए विशेष योगदान दिया हो। यह पहले राजनेताओं के नाम पर था, जिसे बाद में बदल कर राजभाषा कीर्ति पुरस्कार और राजभाषा गौरव पुरस्कार कर दिया गया।

राजभाषा पुरस्कार

राजभाषा पुरस्कार तकनीकी या विज्ञान के विषय पर हिंदी में लिखने वाले किसी भी भारतीय नागरिक को दिया जाता है। इसमें 10,000 से लेकर 2 लाख रुपए के पुरस्कार होते हैं। प्रथम पुरस्कार प्राप्त करने वाले को 2 लाख रुपए, द्वितीय को डेढ़ लाख रुपए और तृतीय को 75,000 रुपए मिलते हैं। 10 लोगों को प्रोत्साहन पुरस्कार के रूप में 10-10 हजार रुपए प्रदान किए जाते हैं। सभी को स्मृति चिह्न भी दिया जाता है।

प्रमुख पुरस्कार

इस वर्ष प्रथम पुरस्कार ‘भारतीय हिमालय जीवन और जीविका’ नामक पुस्तक के लिए प्रो. अतुल जोशी को दिया जा रहा है। राजभाषा कीर्ति पुरस्कार किसी विभाग, समिति आदि को उसके द्वारा हिन्दी में किए गए श्रेष्ठ कार्यों के लिए दिया जाता है।

राजभाषा पुरस्कार और राजभाषा गौरव पुरस्कार का प्रतिवर्ष होना हिंदी भाषा के उत्थान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह सम्मान हिंदी भाषा को और अधिक महत्वपूर्ण और प्रतिष्ठित बनाता है और लोगों को इसके प्रति समर्पित बनाता है।

हिंदी दिवस के शुभकामना संदेश

Hindi Diwas Quotes Status Wishes

भारतीय साहित्य और संस्कृति को हिंदी की देन बहुत महत्वपूर्ण है’
– संपूर्णानंद

‘हिन्दी हमारे राष्ट्र की अभिव्यक्ति का सरलतम स्रोत है.’
– सुमित्रानंदन पंत

हिंदी से हिंदुस्तान है
तभी तो यह देश महान है,
निज भाषा की उन्नति के लिए
अपना सबकुछ कुर्बान है.

हिंदी दिवस की शुभकामनाएं!

हिन्दुस्तान की है शान हिंदी,
हर हिन्दुस्तानी की है पहचान हिंदी,
एकता की अनुपम परम्परा है हिंदी,
हर दिल का अरमान है हिंदी.
Happy Hindi Diwas 2023

हिंदी है भारत की बिंदी
यह भारत की शान है,
इसके बूते बढ़ रहा है देश
यह हमारे देश की आन, बान और शान है.

हिंदी दिवस की शुभकामनाएं!

प्यार मोहब्बत भरा है जिसमें
जिससे जुड़ी हर आशा है
मिसरी से भी मीठी है जो
वो हमारी हिंदी भाषा है.
Happy Hindi Diwas 2023

जैसे रंगों के मिलने से खिलता है बसंत,
वैसे भाषाओं की मिश्री सी बोली है हिंदी.

हिंदी दिवस की शुभकामनाएं!

विविधताओं से भरे इस देश में
लगी भाषाओं की फुलवारी है,
इनमें हम सबकी प्यारी
हिंदी मातृभाषा हमारी है.

हिंदी दिवस की शुभकामनाएं!

हिंदी दिवस पर हमने ठाना है,
लोगों में हिंदी का स्वाभिमान जगाना है.

हिंदी दिवस की शुभकामनाएं!

हिंदी के बिना हिंदुस्तान उतना अधूरा है,
जितना सांसों के बिना ये जीवन…
Happy Hindi Diwas 2023

हम सब मिलकर दें सम्मान,
निज भाषा पर करें अभिमान.

हिंदी दिवस की शुभकामनाएं!

हिंदी दिवस की शुभकामनाएं!
जन-जन की हिंदी प्यारी भाषा है,
पूरे भारत की यग आशा है,
इसके बिना जीवन थम जाए,
यह तो जीवन की परिभाषा है.

हिंदी दिवस की शुभकामनाएं!

यह भी पढ़े :

G-20 2023 Current Affairs रट लीजिये एग्जाम में काम आएंगे

Spread the love

Leave a Comment

Vivo Y78 (t1) & Vivo Y78m (t1) 12GB रैम, 50MP कैमरा के साथ लॉन्च, जानें कीमत Dussehra 2023: 23 या 24 अक्टूबर कब मनाई जाएगी विजयादशमी, जान लें सही डेट Surya Grahan 2023: सूर्य ग्रहण के दौरान ना करें ये गलती 17 अक्टूबर तक इन राशियों का पलटेगा भाग्य, राजयोग का है योग अवनीत कौर ने इंस्टाग्राम पर लगाया ग्लैमर का तड़का, देखें फोटोज अवनीत कौर रोम शहर की गलियों में धूप का मजा लेते हुए फोटोज क्लिक करवाती नजर आई Vivo V29: हो गया लांच जाने स्पेसिफिकेशन्स और प्राइस Ram Charan Spotted At Airport: एक बार फिर नंगे पैर दिखें राम चरण Fukrey 3 Box Office Collection Day 6: बॉक्स ऑफिस पर Fukrey 3 का कब्जा Tiger Nageswara Rao Hindi Trailer: का धमाकेदार ट्रेलर हुआ रिलीज, फुल ऑन एक्शन अवतार में रवि तेजा